वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट किया पेश, बोलीं- साल 2022 में 80 लाख नए घर बनाए जाएंगे

सरकार करेगी 48,000 करोड़ रुपये का आवंटन

संवाददाता भारत पोस्ट 

नई दिल्ली । वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में मंगलवार को बजट पेश किया। उन्होंने कहा कि हम कोरोना लहर से गुजर रहे हैं। साल 2014 से सरकार का ध्यान गरीबों और वंचित तबकों पर है; सरकार मध्यम वर्ग को आवश्यक परिवेश उपलब्ध करवाने के लिए प्रयासरत है। ऐसे में बिजली, घर इत्यादि पर जोर दिया है। बजट भाषण से पहले वित्त मंत्री ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। राष्ट्रपति भवन ने ट्वीट किया कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय बजट 2022-23 पेश करने से पहले, वित्त राज्यमंत्री डॉ. भागवत किशनराव कराड, पंकज चौधरी और वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की।

बजट भाषण की बड़ी बातें:-

  • भारत विश्व की सबसे तेजी से उभरती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। इस बार के बजट में अगले 25 साल के लिए ब्लूप्रिंट पेश किया जा रहा है। देश में आर्थिक रिकवरी को मजबूत करने पर ध्यान केंद्रित किया जा रहा है।
  • मौजूदा वर्ष में भारत की आर्थिक ग्रोथ 9.2 फीसदी रहने का अनुमान है, ये बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे ज़्यादा है। इसके बाद भी कोरोना काल से उभरने के लिए पर्याप्य उपाय किए गए हैं।
  • भारतीय अर्थव्यवस्था ग्लोबल मोर्चे पर चुनौतियों का सामना कर रही है।
  • वैक्सीनेशन का दायरा बढ़ने से आर्थिक पुनरुद्धार को मदद मिली।
  • आत्मनिर्भर भारत के तहत 16 लाख युवाओं को नौकरियां दी जाएंगी। मेक इन इंडिया के तहत 60 लाख नौकरियां आएंगी।
  • एलआईसी का आईपीओ जल्द लाया जाएगा।
  • एयर इंडिया का विनिवेश पूरा हो गया है।
  • अगले 3 वर्षों के दौरान बेहतर दक्षता वाली 400 नई पीढ़ी की वंदे भारत ट्रेनें लाई जाएंगी; अगले 3 वर्षों के दौरान 100 पीएम गति शक्ति कार्गो टर्मिनल विकसित किए जाएंगे और मेट्रो सिस्टम के निर्माण के लिए नवीन तरीकों का कार्यान्वयन किया जाएगा।
  • रेलवे छोटे किसानों और छोटे व मध्यम उद्यमों के लिए नए प्रोडक्ट और कुशल लॉजिस्टिक सर्विस तैयार करेगा।
  • साल 2022-23 के बीच नेशनल हाईवे की लंबाई को 25,000 किमी तक बढ़ाई जाएगी।
  • पहाड़ी इलाकों में कनेक्टिविटी को बढ़ाने के लिए रोपवे कार्यक्रम की शुरुआत होगी। ऐसे में 60 किमी लंबे 8 रोपवे बनाए जाएंगे।
  • गंगा नदी के किनारे 5 किमी चौड़े गलियारों में किसानों की जमीन पर फोकस के साथ पूरे देश में रासायनिक मुक्त प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • पीएम ई विद्या के ‘वन क्लास, वन टीवी चैनल’ कार्यक्रम को 12 से 200 टीवी चैनलों तक बढ़ाया जाएगा। यह सभी राज्यों को कक्षा 1 से 12 तक क्षेत्रीय भाषाओं में सप्लीमेंट्री शिक्षा प्रदान करने में सक्षम बनाएगा।
  • हमारी सरकार ने लाभ प्रदान करने के लिए महिला और बाल विकास मंत्रालय की मिशन शक्ति, मिशन वात्सल्य, सक्षम आंगनवाड़ी और पोषण 2.0 जैसी योजनाओं को व्यापक रूप से नया रूप दिया है।
  •  नागरिकों की सुविधा बढ़ाने के लिए 2022-23 में ई-पासपोर्ट जारी किया जाएगा।
  • आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस) को मार्च 2023 तक बढ़ाया जाएगा, गारंटी कवर को 50,000 करोड़ रुपए से बढ़ाकर कुल 5 लाख करोड़ रुपए किया जाएगा।
  • फसल का मूल्यांकन करने, भूमि अभिलेखों के डिजिटलीकरण, कीटनाशकों और पोषक तत्वों के छिड़काव के लिए किसान ड्रोन के उपयोग को बढ़ावा दिया जाएगा।