पीएम मोदी की फैन हुई पाकिस्तानी लड़की, मुश्किल समय में भारत सरकार से मांगी थी मदद

संवाददाता भारत पोस्ट

नयी दिल्ली। रशिया और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है ऐसे में कई देशों के आम लोग यूक्रेन में फंसे हुए हैं। भारत ऑपरेशन गंगा के तहत अपने नागरिकों को वहां से निकाल कर सुरक्षित घर पहुंचा रहा है। ऐसे में भारत के पड़ोसी देश के भी काफी लोग यूक्रेन में फंसे हुए हैं। खबरें थी कि यूक्रेन में कई भारत सरकार द्वारा चलाए गये ऑपरेशन गंगा काफी बड़े स्तर पर काम कर रहा था। पाकिस्तान के काफी लोगों ने भारत का झंडा फहराकर मदद मांग रहे थे। अब यूक्रेन से वापस लौटी एक पाकिस्तानी लड़की ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया है। इस सड़की को यूक्रेन से भारत ने वापस निकाला है।

पाकिस्तानी लड़की अस्मा शफीक को कीव में भारतीय दूतावास की मदद से यूक्रेन के एक युद्ध क्षेत्र से निकाला गया। एक वीडियो में, उसने भारतीय दूतावास और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को “बहुत कठिन स्थिति” से बचने में मदद करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, “मैं कीव में भारतीय दूतावास की बहुत शुक्रगुजार हूं कि उन्होंने यहां हर तरह से हमारा समर्थन किया क्योंकि हम बहुत मुश्किल स्थिति में फंस गए थे।” समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा पोस्ट किए गए वीडियो में उन्होंने कहा, “मैं भारत के प्रधान मंत्री को भी धन्यवाद दे रही हूं। आशा है कि हम सुरक्षित घर पहुंच जाएंगे, भारतीय दूतावास को धन्यवाद।” अस्मा शफीक अब पश्चिमी यूक्रेन के रास्ते में है जहां से वह अंततः युद्धग्रस्त देश से बाहर निकल जाएगी। सूत्रों के हवाले से एएनआई ने बताया कि वह जल्द ही अपने परिवार के साथ फिर से मिल जाएंगी।

रूस ने 24 फरवरी को यूक्रेन पर हमला किया। जबकि यूक्रेन की राजधानी को धमकी देने वाला एक विशाल रूसी बख्तरबंद स्तंभ कीव के बाहर रुका हुआ है, रूस की सेना ने देश भर के शहरों और अन्य साइटों पर सैकड़ों मिसाइल और तोपखाने हमले शुरू किए हैं। लड़ाई शुरू होने के बाद से सैकड़ों नागरिकों के मारे जाने की पुष्टि हुई है और 15 लाख से अधिक लोग यूक्रेन से भाग गए हैं। 24 फरवरी को आक्रमण शुरू होने के बाद से, भारत सरकार ऑपरेशन गंगा के तहत पड़ोसी देशों के माध्यम से यूक्रेन से भारतीय नागरिकों को निकाल रही है। युद्ध शुरू होने के बाद से 16,000 से अधिक नागरिक भारत लौट चुके हैं।