पाली शहर की अनेक बस्तियों में अवैध शराब की बिक्री जोरों पर शराब माफिया की चांदी पुलिस हुई बेखबर?

राजस्थान । आज पूरा देश कोरोना वायरस की महामारी से चलते जूझ रहा है वही भारत सरकार एवं राज्य सरकार के आदेश पर पूरे जिले व शहर में पूरा प्रशासन लोगों को बचाव में लगे होने के कारण पानी में अनेक बस्तियों में सरेआम अवैध शराब की बिक्री धड़ल्ले से हो रही है हमारे खोजी पत्रकारों की विशेष टीम ने पाली शहर की नया गांव भटवाड़ा मिल गेट मंडिया रोड सरदार पटेल नगर रेलवे फाटक के पास कई अन्य जगहों पर अवैध शराब की बड़ी जोर-शोर पर हो रही है उच्चे रेट में हो रही कालाबाजारी सूत्रों अनुसार जो क्वार्टर 50 का मिलता है उसका 100 रेट ह
इंग्लिश डेढ़ सौ वाला पहुवा अब ₹300 सरेआम शराब माफिया अपने मनमाने भाव से बेच करके सरकार के राज्य सरकार टैक्स का करोडो रूपये का चुना ? है और शराब की अवैध शराब की दुकानों के मालकिन ठेकेदारो को भी करोड़ का नुकसान हो रहा है यह अवैध शराब बहुत घटिया केमिकल से बनाई जाती है जिसने अनेक घातक बीमारियां का फैलने खतरा बना हुआ है इसके लिए सर्वाधिक विभाग पुलिस हुई बेखबर है ऐसा नहीं कि पुलिस ने उनके खिलाफ कार्रवाई नही की गई शराब माफिया में ज्यादातर महिलाए लिप्त होने की वजह से इनको राजनेताओं का संरक्षण होनो के कारण इनके हौसले बुलंद हो रहे हैं आजकल पुलिस पूरा प्रशासन जनता कर्फ्यू के बाद में इंसानों को बचाव में लगे होने के चलते शराब के ठेके बंद होने की वजह से अनेक शराब तस्कर हुए सक्रिय होकर अवैध शराब की बिक्री बहुत बड़े पैमाने में हो रही है शराब माफिया के करोडो के वारे न्यारे सरेआम देश के कानून के आदेश की धज्जया उडाते हूए शराब माफिया पर पुलिस बेखबर हो रही है जा जान-बूझकर अनजान बनी हुई है एक तरफ आए दिन नशा मुक्त समाज को मजबूत बनाने के नेता दावे कर रहै है पर इनके क्षेत्र पाली शहर मे महामारी फैलने खतरा खतरा मंडरा रहा है अगर पुलिस ने खुफिया पड़ताल की जांच सफेद बेनकाब होंगे -शराब एक मीठा जहर है- जिससे इंसानियत का हो घाण रहा है।