बिहार मे कोरोना से दूसरी मौत

पटना । बिहार में शुक्रवार को कोरोना वायरस से संक्रमित दूसरी मौत हो चुकी है। जिस युवक की मौत हुई है वह वैशाली जिले का रहने वाला था। उसे टीबी की भी बीमारी थी। वह 14 अप्रैल को एम्स में भर्ती हुआ था और 15 अप्रैल को पीसीआर टेस्ट में उसकी कोरोना की जांच पॉजिटिव मिली थी।
एम्स का कहना है कि उसके मल्टीपल ऑर्गन फेल हुए हैं। उसे इंसेफ्लाइटिस के साथ मल्टीपल इन्फ्रैक्शन यानी कई संक्रमण भी थे। उसके तीन रिश्तेदार की भी जांच हुई है, सभी की रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है। बिहार में कोरोना से होने वाली दोनों मौत पटना एम्स में ही हुई है। कोरोना वायरस से संक्रमित बिहार में पहली मौत मुंगेर निवासी सैफ अलीव की हुई थी।
बिहार में गुरुवार को कोरोना वायरस पॉजिटिव के 11 नए मामले सामने आए। इसके साथ ही राज्य में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर 72 से 83 हो गई है। इस बीच, कोरोना पॉजिटिव वैशाली के युवक का इलाज करने वाले पटना के दो निजी अस्पताल और एक जांच केंद्र को सील कर दिया गया है। पटना डीएम कुमार रवि के निर्देश पर गुरुवार को यह कार्रवाई की गई।
स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने गुरुवार को बताया कि 11 नए मरीजों में दो बक्सर जिले के रहने वाले हैं। वे पश्चिम बंगाल के आसनसोल से बक्सर आए थे। एक मरीज की उम्र 67 और दूसरे की 37 साल है। बाकी के नौ नए मरीज मुंगेर जिले के रहने वाले हैं। इनमें 55, 26, 22 और 20 साल की चार महिलाएं शामिल हैं। इन मरीजों में छह माह और दो साल की बच्चियां भी शामिल हैं। इसके अलावा 55, 40 और 38 साल के पुरुष भी हैं। ये सभी एक ही परिवार के हैं। बुधवार को मुंगेर से मिले कोरोना मरीज के संपर्क में आने से ये लोग संक्रमित हुए हैं। इससे पहले 9 अप्रैल को बिहार में एक दिन में सबसे ज्यादा 19 मरीज मिले थे।
बिहार के पूर्व में 11 जिले ही कोरोना के संक्रमण वाले थे। अब दो नए जिलों- वैशाली और बक्सर में भी मरीज के मिलने से संक्रमित जिलों की संख्या बढ़कर 13 हो गई है। सबसे ज्यादा 29 मरीज सीवान जिले में मिले हैं। अब 17 मरीजों के साथ मुंगेर दूसरा सबसे प्रभावित जिला बन गया है। बेगूसराय में 8 और पटना में 6 मरीज मिले हैं।