नदी में डूबी किशोरी को नहीं ढूंढ पाए लोग अनहोनी की आशंका

गगन मिश्रा
पड़रिया तुला। कल नदी की तेज धार में बही किशोरी का दूसरे दिन भी कोई पता नहीं चल पाया परिवारी जन और गांव वाले अनहोनी की आशंका जता रहे मृतक की मां का रो-रो कर बहुत बुरा हाल है बताते चलें कि बुधवार को नाव से नदी पार करते समय भीरा के निकट शाहपुर मजरा में पलिया पुरवा गांव निवासी 15 वर्षीय किशोरी रोहिणी तेज धार में बह गई थी जिसकी तलाश गांव वालों ने तुरंत शुरू कर दी थी लेकिन नदी की गहराई बहुत तेज बहाव के कारण किशोरी का कोई पता नहीं चल सका था इसी के चलते दूसरे दिन भी किशोरी की तलाश शुरू की गई लेकिन दूसरे दिन भी किशोरी का कोई पता नहीं चला है किशोरी के घर में कल से चूल्हा तक नहीं जला है और ना ही खाना खाया है गांव वालों के अनुसार रोहिणी बहुत ही होनहार लड़की थी और अपने पिता के साथ खेती-बाड़ी में पूरा हाथ बटाती थी रोहिणी खेतों की जुताई निराई गुड़ाई व गन्ना छिलाई खुद ही कर लेती है और ट्रैक्टर से कृषि के सारे कार्य कुशलता के साथ करती थी दुर्भाग्य से अभी 15 दिन पहले ही उसके पिता की मृत्यु हो गई थी जिसके बाद उसकी खेती-बाड़ी का सारा भार उसके कंधों पर आ गया था उसी के चलते वह बुधवार को खेती का काम निपटा कर वापस आ रही थी और उसे कुदरत ने अपने आगोश में ले लिया सभी लोगों में यही चर्चा है कि अब किशोरी का मिलना मुश्किल है लेकिन किशोरी की मां यह मानने को तैयार नहीं है और रोते-रोते बार-बार बेहोश हो जाती है लेकिन शर्म की बात यह है कि इस घटना की सूचना होते हुए भी कोई जिम्मेदार राजनीतिक और कथित समाज सेवक तथा जनप्रतिनिधि लोग अभी तक परिवार को ढांढस बंधाने तक नहीं पहुंचे हैं और ना ही किसी प्रकार की सहायता की है ऐसे लोग सिर्फ स्वार्थ के लिए ही घटनास्थल पर पहुंचते हैं लेकिन यदि इस दुख की घड़ी में परिवार को थोड़ा सा भी संबल दिया जाए तो शायद रोहिणी की मां की हालत कुछ सुधर सके