किसानों की सब्जी बिक्री का कार्य सुगमता से हो : जिलाधिकारी

उन्नाव । उप कृषि निदेशक ने बताया कि कोविड-19 महामारी के दौरान जनपद के सब्जी उत्पादक किसानों की सब्जी बिक्री का कार्य सुगमता से हो
जिलाधिकारी श्री रविन्द्र कुमार ने जनपद में पाॅंच सब्जी मण्डियों का संचालन कराया, इनमें से तहसील सदर उन्नाव में ह एवं जमुका, तहसील हसनगंज में औरास, तहसील सफीपुर में मेथीटीकुर, तहसील बाॅंगरमऊ में दसगाॅंव में मण्डी लगने लगी। उक्त मण्डियों में सब्जी उत्पादक किसान अपनी अपनी सब्जी ले जाकर बेंच रहे है।
उप कृषि निदेशक ने बताया कि सब्जी उत्पादक किसानों का क्षेत्र निरीक्षण कर कृषि विभाग एवं उद्यान विभाग के कार्मिकों के माध्यम से जानकारी भी दी जा रही है कि किसान अपनी सब्जी इन मण्डियों में बिक्री हेतु ले जायें। इसके अलावा जो किसान जनपद से बाहर कानपुर, लखनऊ सण्डीला हरदोई रायबरेली लालगंज सब्जी बिक्री हेतु ले जाना चाहते है उन किसानों के पास भी निर्गत किये जा रहे है। कोई भी किसान पास प्राप्त करने हेतु प्रभारी राजकीय कृषि बीज भण्डार या प्रभारी कृषि रक्षा इकाई से सम्पर्क कर प्राप्त कर सकते है। उप कृषि निदेशक ने बताया कि जनपद में 26000 हैक्टेयर में किसानों द्वारा एब्जी का उत्पादन किया जाता है। मुख्य सब्जी फसल फूलगोभी, पातगोभी, टमाटर, कद्दू, खीरा, लौकी, तोरई, तरबूज, खरबूजा है। उन्होने यह भी बताया कि किसान भाइयों को सब्जी की बिक्री जनपद के किसी भी मण्डी में करने पर कोई टैक्स आदि नही लगेगा, और किसान अपनी मर्जी के मुताबिक फसल और सब्जी जनपद से बाहर बिक्री हेतु ले जा सकेंगे।
उप कृषि निदेशक ने आज 14 मई 2020 को विकास खण्ड सिकन्दरपुर सिरौसी के ग्राम भतावाॅ में निरीक्षण किया और सब्जी उत्पादक किसानों को सब्जी उत्पादन एवं उनके विपणन के सम्बन्ध में सरकार द्वारा किये जा रहे सहयोग की जानकारी दी। निरीक्षण के दौरान प्रभारी राजकीय कृषि बीज भण्डार, श्री अजयपाल, श्री विजय प्रताप सिंह ग्राम प्रधान प्रतिनिधि सुरेश कुमार, सब्जी उत्पादक किसान अन्नू, रामा, लालबहादुर, प्रकाश, शिवम, कमलेश दिलीप आदि उपस्थित रहे। टमाटर की खेती करने वाले किसान अन्नू ने बताया कि उनके द्वारा डेढ बीघा टमाटर की फसल में रू0-40000/- का टमाटर बेंचा जा चुका है, और अभी लगभग रू0-15000/- का टमाटर और बेचेंगे। इसके साथ ही खेत में तोरई की फसल भी बोई है, जो करीब रू0-15000/- की बेचेंगे। ग्राम प्रधान द्वारा बताया गया कि गाॅंव में लगभग 200 हैक्टेयर में टमाटर, 50 हैक्टेयर में बैगन, 50 हैक्टेयर में भिण्डी, 25 हैक्टेयर में तोरई एवं 20 हैक्टेयर मे मिर्च लगी है, जिसे किसान मण्डी में बिक्री करके मुनाफा कमा रहे है। सभी किसानों ने खुशी जाहिर की कि जिलाधिकारी महोदय ने उनकी सब्जी की बिक्री के लिये पास बनवा दिये, मण्डी चालू करवा दी जिससे महामारी के दौरान भी वह अपनी सब्जी बेंच पा रहे है। उप कृषि निदेशक ने गाॅंव में सब्जी उत्पादक किसानों को उत्पादन एवं विपणन की सुगमता के लिये किसानों के संघ बनाने की सलाह दी।