लखीमपुर में लगातार कोरोना संक्रमित मजदूरों की संख्या में इजाफा पूरा जिला दहशत में

गगन मिश्रा पड़रिया तुला
लखीमपुर जिले में सभी जिम्मेदार विभागों की सक्रियता व कर्तव्यनिष्ठा से अभी तक कोरोना पर कुछ हद तक बंदिश लग पाई जिस वजह से लखीमपुर जिला ग्रीन जोन घोषित किया गया था लेकिन अब जिले में कोरोना बम फूटने लगे हैं जिसकी वजह प्रवासी मजदूरों का बड़ी संख्या में जिले में आना बताया जाता है निघासन क्षेत्र में 9 कोरोना पॉजिटिव मिलने के बात पूरे जिले में सख्ती से मानीटरिंग की जा रही थी जिसके फलस्वरूप आज फूलबेहड़ थाना क्षेत्र के गांव चौरठिया में दो कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद पूरा क्षेत्र दहशत में है वही प्रशासन को भनक लगते ही पूरा गांव सील कर दिया गया है और पूरे गांव के जांच की जा रही है गांव को पूरी तरह छावनी में तब्दील कर दिया गया है भारी मात्रा में शासन-प्रशासन ड्यूटी कर रहा है और जो पॉजिटिव केस पाए गए हैं उनके परिवार व जितने लोग उनके संपर्क में हैं उन्हें ट्रेस करके उनकी भी जांच करानी चाहिए चौरठिया गांव में संभवतः और मरीज मिलने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता मैं सभी से निवेदन करता हूं कि वायरस के प्रकोप गंभीरता को समझते हुए लाकडाउन के दौरान मिली छूट का गलत फायदा ना उठाएं और सारे नियम कानून का पालन करें नहीं तो स्थिति भयावह हो सकती है देखा जाए तो यदि हम अपने आप खुद का बचाव नहीं कर सकता है तो शासन प्रशासन कितनी भी कोशिशें करें लेकिन सबको नहीं रोक पाएगा।।