अम्फान: कैबिनेट सचिव की ओडिशा और पश्चिम बंगाल के साथ बैठक, बोले- स्टैंडबाय पर है सेना

 

नई दिल्ली । अम्फान भीषण तूफान का रूप ले लिया है। इसको लेकर अलर्ट काफी पहले ही जारी किया जा चुका है। केंद्रीय कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गौबा के मैराथन बैठकों का दौर जारी है। आज उन्होंने राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (NCMC) की तीसरी बैठक की। इस दौरान उन्होंने राज्यों और केंद्रीय मंत्रालयों की तैयारियों का जायजा लिया। यह जानकारी केंद्रीय गृह मंत्रालय ने दी है।
इस बैठक में ओडिशा और पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव और अतिरिक्त मुख्य सचिव ने राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति को अम्फान चक्रवाती तूफान को लेकर अपनी-अपनी तैयारियों से अवगत कराया।

इस बैठक में उन्होंने यह भी बताया कि अनाज के भंडारण, पीने के पानी की व्यवस्था के साथ-साथ अन्य जरूरी सामानों की उपलब्धता को लेकर जरूरी कदम उठाए गए हैं। साथ ही बिजली और दूरसंचार सेवाओं के रखरखाव और बहाली के लिए टीमें भी तैनात की गई हैं।
राज्यों और केंद्रीय एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा करते हुए, कैबिनेट सचिव ने राज्य सरकारों से कहा कि वे निचले इलाकों से लोगों की समय के साथ पूर्ण निकासी सुनिश्चित करें। साथ ही पर्याप्त मात्रा में आवश्यक आपूर्ति जैसे कि भोजन, पेयजल, और दवाएं बनाए रखें।

36 राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) की टीमें वर्तमान में दोनों राज्यों में तैनात हैं। नौसेना और वायु सेना और तटरक्षक बल के जहाजों और विमानों के साथ सेना और नौसेना के बचाव और राहत दल को स्टैंडबाय पर रखा गया है।