*मजदूरों के दर्द से सीएम नीतीश का दहला दिल, कहा- मैं दूंगा रोजगार, ना जाए बाहर*

 

पटना । मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तीसरे दिन भी क्वॉरंटीन सेंटर का निरीक्षण किया. वीडियो कांफ्रेंसिंग का माध्यम से 8 जिलों के 16 क्वॉरंटीन केन्द्रों का सीएम ने जायजा लिया. इस दौरान उन्होने मौजूद प्रवासियों से व्यवस्था के बारे में पूछा और उन्हे हरसंभव मदद का भरोसा दिया. बारी बारी से 8 जिलों के 16 क्वॉरंटीन सेंटरों से सीधा संवाद के दौरान मजदूरों का दर्द सुनकर सीएम कुछ पल के भावुक हो गए. सभी की बातों को नीतीश कुमार ने बड़े ही गौर से सुना और उन्हे हरसंभव मदद का भरोसा दिया.सीधा संवाद के दौरान जब मजदूरों ने अपनी आपबीती सुनायी तो सीएम नीतीश कुमार के साथ वहां मौजूद अधिकारी भी कुछ पल के भावुक हो गए. पीड़ित मजदूरों के आंखों में उनकी यादों के आंसु को देखकर नीतीश कुमार से रहा नहीं गया. उन्होंने सभी प्रवासियों को भरोसा दिलाया की अब आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है. सरकार सभी को उसके हूनर के अनुसार रोजगार उपलब्ध करायेगी.नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य में रोजगार सृजन पर सरकार नए सिरे से फोकस कर रही है. भागलपुरी सिल्क सहित मुंगेर में कपड़ा उद्योग की संभावनाओं को देखते हुए नए सिरे से वहां रोजगार पैदा करने का लक्ष्य रखा गया है. इसके अलावा बिहार में कपड़ा जूता बैग फर्नीचर और साइकिल उद्योगों से जुड़ी असीम संभावनाओं को देखते हुए राज्य सरकार इन क्षेत्रों में मजदूरों को रोजगार मुहैया कराना चाहती है.