बिजुआ सीएचसी मैं भ्रष्टाचार का मामला उजागर पीड़ित ने लगाया पैसे लेकर मरीज भर्ती करने का आरोप

।गगनमिश्रा पड़रिया तुला।

लखीमपुर खीरी जिले के विकास क्षेत्र बिजुआ में स्थित सरकारी अस्पताल आए दिन चर्चा में रहता है इस बार एक मरीज के परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर मरीज को भर्ती करने के नाम पर 1200 वसूली करने का आरोप लगाया है जबकि कोरोना महामारी के चलते कई प्राइवेट अस्पताल भी एडमिट शुल्क नहीं लेते हैं लेकिन अस्पताल में मौजूद कुछ लाए थे कर्मचारियों की वजह से पूरा अस्पताल प्रशासन शर्मिंदा हो रहा है मरीजों ने बताया की गरीब होने के बाबजूद बाहर की दवाएं मंगवाकर गरीबो का शोषण किया जा रहा है आज फिर दुबारा रुपये देने अकेली असमर्थता जताने पर स्टाफ में उनके मरीज को दूसरी जगह रेफर कर दिया और कहा कि पैसे दे दोगे तो यही ठीक हो जाएगा इस तरह योगी शासन में गरीबो को प्रताड़ित किया जा रहा है

वहीं सूत्रों से जानकारी मिली कि पिछले 17 वर्षों से इसी अस्पताल में अधिकारी कार्यरत हैं

फार्मासिस्ट पर किसका बना हुआ है वरदान जो कोरोना महामारी में योगी प्रशासन की धज्जियाँ उड़ाने से नही चूक रहा है*लॉक डाउन में गरीबो की सरकार के सरकारी महकमे पर सवाल सवाल उठने लगे हैं क्या भ्र्ष्टाचार में डूबे अस्पताल प्रशासन पर योगी शासन का ख़ौफ़ या सीएम के आदेशों का कोई असर होगा कि नहीं यह तो भविष्य के गर्भ में है *