*हीट वेव को लेकर अलर्ट मोड में सरकार, जारी किए गाइडलाइन*

 

पटना । पिछले साल के हीट वेव को ध्यान में रखते हुए सरकार अलर्ट मोड में आ गई है. आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आला अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने निर्देश दिया है कि राज्य में हीट वेव की आशंका को देखते हुए अलर्ट मोड पर रहा जाए. दरअसल, सरकार बीते साल हीट वेव के कारण बिहार में हुई मौत के मामलों को भूली नहीं है. यही कारण है कि तापमान बढ़ने के बाद मुख्यमंत्री ने खुद इस मामले पर संज्ञान लिया है.स्वास्थ विभाग की उच्च स्तरीय बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कोरोना महामारी के अलावे हीट वेव को लेकर भी गाइडलाइन जारी किए. सीएम ने सरकारी अस्पतालों में हीट वेव से प्रभावित लोगों के इलाज के लिए अभी से व्यवस्था करने को कहा है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने हीट वेव से बचाव के लिए अभी से जागरूकता अभियान चलाने का भी निर्देश दिया है. बढ़ती गर्मी को देखते हुए सरकार ने एहतियाती तौर पर यह कदम उठाया है.सीएम नीतीश कुमार ने बढ़ती गर्मी के कारण से प्रभावित जिलों में प्रोटोकॉल के मुताबिक इलाज की समुचित व्यवस्था करने का भी निर्देश दिया है. लोगों के बीच जागरूकता हो इसलिए अभियान चलाने का अधिकारियों को जिम्मा दिया गया है. चमकी बुखार से मुजफ्फरपुर और उसके आसपास के इलाके में बड़ी तादाद में बच्चों की मौत होती रही है. सरकार नहीं चाहती है कि कोरोना वायरस बीच में ऐसे मामले उसकी मुसीबत बढ़ाएं.