*31 मई के बाद राज्यों को मिल सकता है छूट और प्रतिबंध तय करने का अधिकार*

 

नई दिल्ली ।  कोरोना वायरस महामारी से भारत ही नहीं, बल्कि दुनियाभर के करीब 200 देश जूझ रहे हैं. कोरोना के प्रकोप को फैलने से रोकने के लिए देश में बीते 25 मार्च से लॉकडाउन जारी है. लॉकडाउन का चौथा फेज 31 मई को पूरा हो रहा है. रोजाना 7 हजार के करीब आ रहे मामलों और मौतों की संख्या को देखते हुए लॉकडाउन का आगे बढ़ना तय है. हालांकि, ऐसी चर्चा है कि सरकार 31 मई के बाद लॉकडाउन आगे बढ़ने की स्थिति में राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को छूट और प्रतिबंध तय करने का अधिकार दे सकती है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के अभी तक के अपडेट के मुताबिक. अब तक कोरोना के 1,51,767 कंफर्म केस हो चुके हैं. पिछले 24 घंटों में संक्रमित मरीजों के 6387 नए मामले सामने आए हैं और 170 लोगों की जान गई है. नए मामलों में आज लगातार दूसरे दिन गिरावट दर्ज की गई है. ऐसे में साफ है कि लॉकडाउन के अगले फेज में भी इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर फिलहाल रोक जारी रहेगी.

इकोनॉमिक टाइम्स ने सूत्रों के हवाले से एक रिपोर्ट में बताया है कि लॉकडाउन की समीक्षा हर 14 दिन में की जाएगी, जब तक कि सभी प्रतिबंधों को नहीं हटा लिया जाता. अब आगे से लॉकडाउन में नियमों, छूट और प्रतिबंधों को लेकर केंद्र की भूमिका कम होगी, ज्यादा अधिकार राज्यों को दिए जाएंगे. हालांकि, राष्ट्रीय स्तर के निर्देश पहले की तरह गृह मंत्रालय ही जारी करेगा. जैसे की सार्वजनिक जगहों पर अनिवार्य रूप से फेस मास्क पहनना और सामाजिक दूरी का पालन करना.