बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत

 

मध्य प्रदेश: लॉकडाउन के चौथे चरण के आखिरी दिन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश की जनता को संबोधित किया. इस दौरान सीएम शिवराज सिंह चौहान ने बिजली उपभोक्ताओं के लिए बड़ी घोषणा की. उन्होंने कहा कि प्रदेश में जिन घरों में अप्रैल के महीने में 100 रुपये तक का बिल आया था, सरकार अब उन घरों से मई और जून महीने में सिर्फ 50 रुपये का ही बिल लेगी. वहीं जिन घरों में अप्रैल महीने में 400 रुपये तक का बिल आया था, सरकार उन घरों से मई और जून महीने में सिर्फ 100 रुपये का बिल लेगी. शिवराज ने आगे कहा कि लॉकडाउन के कारण पिछले दो महीनों से हमारे व्यापारी भाइयों के व्यवसाय व उद्योग बंद थे. इस दौरान आय का स्रोत काफी कम रहा और खर्चे यथावत रहे. आम जनमानस में सबसे बड़ी चिंता बिजली के फिक्स चार्जेस को लेकर थी. इसी कारण लोगों की कठिनाइयों को कम करने के कारण सरकार ने यह कदम उठाया है. अब किश्तों में दे सकगें फिक्स चार्ज
शिवराज ने कहा कि सरकार ने फैसला लिया है कि अब सभी गैर-घरेलू, गैर-औघौगिकी, दुकानों, शोरूम, अस्पताल, मैरिज हॉल और लॉन व बड़े उद्योग के लिए अप्रैल से जून 2020 के बिजली फिक्स चार्ज को स्थगित कर दिया गया है. अब यह राशि अक्टूबर 2020 से मार्च 2021 के बीच छह आसान किश्तों में बिना किसी ब्याज के जमा की जा सकेगी. इससे लगभग 12 लाख छोटे उघमी दुकानदारों को कुछ राहत मिलेगी. बता दें कि मध्य प्रदेश में घरेलू उपभोक्ताओं को एप्प के माध्यम से स्वयं की रीडिंग भेजने की सुविधा प्रदान की गई है. उपभोक्ताओं द्वारा अप्रैल और मई माह के बिजली बिलों का भुगतान तय तिथि से पहले करने पर एक प्रतिशत अतिरिक्त प्रोत्साहन राशि दी जाएगी. यह राशि घरेलू तथा निम्न दाब उपभोक्ताओं के लिए अधिकतम 10,000 रुपये एवं उच्च दाब उपभोक्ताओं के लिए अधिकतम एक लाख रुपये होगी.