प्लेटफॉर्म पर मृत मां के साथ खेलते बच्चे की मदद को

बिहार के मुफ्फरपुर रेलवे स्टेशन से कुछ दिन पहले एक वीडियो वायरल हुआ था। प्लेटफॉर्म पर एक प्रवासी महिला का शव पड़ा था। शव के चारों तरफ उस महिला के मासूम बच्चे घूम रहे थे, उन्हें ये एहसास ही नहीं था कि उनकी मां अब इस दुनिया में नहीं रही। इस वीडियो ने सबको हिलाकर रख दिया था। जब बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान की नजर इस पर पड़ी तो उन्होंने इन बच्चों के लिए मदद का हाथ बढ़ा दिया।शाहरुख खान के एनजीओ मीर फाउंडेशन ने महिला के परिवार वालों से संपर्क किया। मीर फाउंडेशन में अपने ट्वीट में लिखा है, ‘हम उन सभी लोगों के शुक्रगुजार हैं जिन्होंने हमें इस बच्चे तक पहुंचाने में मदद की जो अपनी मृत मां को उठाने की कोशिश कर रहा था। इस वीडियो ने सभी का दिल दहला दिया था। अब हम इस बच्चे की मदद कर रहे हैं और फिलहाल ये अपने दादा की देखभाल में है।’शाहरुख खान ने मीर फाउंडेशन के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा है, ‘आप सब लोगों का शुक्रिया जो आपने इस बच्चे से हमें मिलवाया। हम प्रार्थना करते हैं कि वह अपने माता-पिता को खोने के दर्द को सहन कर सके। मैं जानता हूं कैसा महसूस होता है। इस बच्चे के साथ हमारा प्यार और समर्थन है।’बता दें कि मृतक महिला का नाम अरविना खातुन था जो अपने दो छोटे बच्चे के साथ 25 मई को अहमदाबाद से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आई थी। वायरल वीडियो में मुजफ्फरपुर रेलवे स्टेशन पर बच्चा अपनी मृत मां को उठाने की कोशिश कर रहा था। एक तरफ जहां इस वीडियो को देख लोग भावुक हो गए थे वहीं इसे लेकर जमकर राजनीति भी हुई थी। कोरोना काल में शाहरुख खान लगातार लोगों की मदद कर रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री राहत कोष में सहायता राशि दी थी। इसके अलावा महाराष्ट्र में फ्रंटलाइन मेडिकल स्टाफ के लिए 25,000 पीपीई किट भी अभिनेता की तरफ से दी गई थी। बीते दिनों पश्चिम बंगाल में आए अम्फान चक्रवात के प्रभावितों की भी मदद का एलान शाहरुख और केकेआर की तरफ से किया गया था।