सरकार प्रत्येक व्यक्ति की नहीं कर सकती मदद

पूर्वी दिल्ली ! कोरोना महामारी के दौरान सरकार के साथ साथ समाज सेवियों ने भी ज़रूरतमंदों की भरपूर मदद की ! अचानक से हुए लॉकडाउन में अन्य राज्यों की भाँति लाखों प्रवासी दिल्ली में भी फँसे रहे जिनमें दिहाड़ी मज़दूरों की ही एक भारी संख्या थी ! लॉकडाउन के बाद अब अनलॉक -1  भी शुरू हो चुका है ! लेकिन अभी भी ऐसे जरूरतमंद लोगों की संख्या लाखों में है जो दो वक़्त की रोटी के  लिए परेशान हैं  ! पूर्वी दिल्ली में भी बहुत से लोगों ने गरीब व जरूरतमंदों की मदद की और अभी भी कर रहे हैं उन्हीं में से एक नाम आर्टिस्ट अविनाश गिल का भी हैं जिन्होंने लॉकडाउन के दौरान अपनी हैसियत के अनुसार जरूरतमंदों को भोजन वितरित किया और अभी भी कर रहे हैं आज उन्होंने पांडव नगर मदर डेरी इलाक़े में मज़दूरों को भोजन पानी व मास्क वितरित किए ! इस मौक़े पर अविनाश ने कहा कि प्रत्येक सक्षम व्यक्ति का कर्तव्य बनता है कि वह इस संकट के दौर में जरूरतमंदों की मदद करे !  कोरोना अभी ख़त्म नहीं हुआ है और लोगों के रोज़गार भी अभी पटरी पर आने में वक़्त लगेगा तथा यह भी सम्भव नहीं है कि सरकार प्रत्येक व्यक्ति तक पहुँचकर उसकी मदद कर सकें इसलिए मैं अपने सामाजिक दायित्व का निर्वाह करते हुए जनमानस की सेवा अपना कर्तव्य समझकर कर रहा हूँ !