बावलास गांव में सालवी समाज ने

 

माण्डल( महावीर मेघवंशी )बावलास गांव में बाबा रामदेव मंदिर में सालवी समाज के युवा बुजुर्गों और पंच पटेलों ने बैठक आयोजित करके समाज में व्याप्त मृत्युभोज जैसी कुरीति को बंद करने का निर्णय लिया समाज के वयोवृद्ध लेहरू लाल ने बताया कि आम मेवाड़ सालवी समाज बाबारामदेव मंदिर ट्रस्ट मातृकुण्डिया से मृत्युभोज को बंद करने का जो निर्णय लिया गया उसका स्वागत करते हुए बावलास के समाजजनों ने मृत्युभोज बंद करने की पहल की एवं बाबारामदेव के समक्ष यह शपथ ली कि हम मृत्युभोज नहीं करेंगे और परिवार में किसी मृत्यु के उपरान्त शक्कर नहीं गलाकर नजदीकी रिश्तेदारों के लिए सिर्फ सादा भोजन या सब्जी पूडी़ ही बनायेंगे और मातृकुण्डिया से हुई घोषणा का पालन करेंगे। इस दौरान ध्रुव सेना के पूर्व अध्यक्ष एवं वर्तमान संरक्षक गिरधारी लाल काला ने अपने विचार व्यक्त करते हुए इस कुरीति के नुकसानों के बारे में बताया एवं इस कुरीति पर होने वाले खर्च को बच्चों के स्वास्थ और शिक्षा पर लगाने की अपील की।
सभी समाज जनों ने विचार व्यक्त कर मृत्युभोज को बंद करने की लिखित स्वीकृति दी एवं समाज से इस कुरीति को मिटाने का आह्वान किया। इस दौरान गेना,गुणेश,प्यारचंद,मगना ,शंकर, बक्षु,मांगीलाल,मुला एवं युवा टीम से नारायण जगदीश रतन,रमेश,सोहन, नारायण,गोपाल,मिठूलाल नारायणलाल, गोपाललाल बद्रीलाल,काना,लादूलाल,श्याम लाल डालचंद, सुखदेव उदयराम, मनीष,राजूलाल, लालचंद,शंकरलाल आदि मौजूद थे।