पूर्व मंत्री पारसनाथ यादव की तेरही और नेहा निषाद की शोक सभा में सम्मिलित होंगें पूर्व सांसद राम चरित्र निषाद

 

प्रतापगढ़ ।छह बार विधायक, दो बार सांसद और तीन बार यूपी में कैबिनेट मंत्री रहे पारसनाथ यादव की तेरही में सम्मिलित होने के लिए पूर्व सांसद मछलीशहर राम चरित्र निषाद 24 जून को 10:30 वाराणसी एयरपोर्ट पहुचेगें और वहाँ से सीधे समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ मल्हनी विधानसभा में पहुँचकर पारसनाथ यादव को श्रद्धांजलि अर्पित करेगें। पूर्वांचल में समाजवाद की पताका को हमेशा ऊंचा रखने वाले पूर्व सांसद और विधायक पारसानाथ यादव का 12 जून को निधन हो गया था। प्रदेश में जब भी एसपी की सरकार बनी मुलायम सिंह यादव के सबसे करीबियों में शुमार पारसनाथ यादव कैबिनेट में शामिल रहे। मुलायम सिंह यादव के उस समय के वह करीबी रहे, जब जनता दल से टूटकर समाजवादी पार्टी का गठन हुआ था।
इसके पश्चात 1 बजे राम चरित्र निषाद केराकत क्षेत्र के पसेवा मइघाट ग्राम निवासी नेहा निषाद की शोक सभा में बतौर मुख्य अतिथि सम्मिलित होगें और नेहा निषाद को श्रद्धांजलि देगें। नेहा निषाद जी का कुछ दबंगों द्वारा अपहरण, सामूहिक बलात्कार और हत्या कर दी गयी थी। नेहा निषाद के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए पूर्व सांसद ने गृह सचिव उत्तर प्रदेश अवनीश अवस्थी, आईजी वाराणसी और जौनपुर एसपी से बात करके कार्यवाही करवाई थी। राम चरित्र निषाद ने कहा था कि यदि नेहा निषाद और उसके परिजनों को न्याय नहीं मिला तो वह पुलिस और प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करेगें।
नेहा निषाद की शोक सभा के आयोजक प्रेम नारायण निषाद और इंद्रजीत निषाद ने कहा कि राम चरित्र निषाद हमारे समाज के सर्वमान्य नेता है। इसलिए हम लोगों सामूहिक रूप से राम चरित्र निषाद को नेहा निषाद की शोक सभा में मुख्य अतिथि बनाने का फैसला किया है। इसके साथ ही उन्होंने ने कहा कि राम चरित्र निषाद का प्रभाव पूर्वांचल की काशी क्षेत्र की 14 लोकसभा सीट सहित सभी 40 सीटों पर हैं। अगले विधानसभा चुनाव में हमारा निषाद समाज उनके इशारे पर वोट करेगा।
सांसद रहने के दौरान राम चरित्र निषाद ने सड़क, बिजली और पानी की समस्या को लगातार कम करने का प्रयास किया था और इसका लाभ मछलीशहर की जनता को मिला था। हालाँकि बीजेपी के कुछ प्रदेश नेताओं की गलत अफवाह की वजह से बीजेपी ने उनका टिकट काट दिया था और वह भी तब बीजेपी की स्वयं की सोशल मीडिया की फरवरी 2018 की ऑडिट रिपोर्ट में राम चरित्र निषाद को उत्तर प्रदेश के सांसदों में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ था। उसके पश्चात निषाद ने समाजवादी पार्टी से लोकसभा चुनाव लड़ा था।