कोविड-19 के संक्रमण से आमजन को बचाना है

 

प्रेम कुमार कंबोज

  श्रीगंगानगर, । शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण एवं बचाव के लिये माननीय मुख्यमंत्री ने विशेष जागरूकता अभियान का 21 से 30 जून 2020 तक के लिये आगाज किया है, इस अभियान को जिले के गांव-गांव, ढ़़ाणी-ढ़ाणी में निवास करने वाले नागरिकों तक पहुंचाना है।  शिक्षा राज्यमंत्री सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाहाॅल में प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा जयपुर से जनजागृति अभियान की शुरूआत के अवसर पर वीसी के माध्यम से जुड़े हुए थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जिस जोश के साथ विशेष जागरूकता अभियान को प्रारम्भ किया जा रहा है, उसी के अनुरूप गंगानगर जिले के गांव-गांव, ढ़ाणी-ढ़ाणी तक प्रत्येक नागरिक के पास कोविड- 19 से बचाव की जानकारियां पहुंचनी चाहिए। आमजन को विशेष रूप से चार बातों का ध्यान रखना होगा। सार्वजनिक स्थल पर मास्क का उपयोग, सामाजिक दूरी, साबुन से बार-बार हाथ धोने व सार्वजनिक स्थल पर नही थूकने को लेकर जागृत किया जाये। उन्होंने कहा कि इस अभियान की सार्थकता तभी है, जब इस जिले के प्रत्येक अधिकारी, जनप्रतिनिधि अपनी क्षमता के अनुरूप क्षेत्र में जाकर आम लोगों से मिलें तथा उन्हें विशेष जागरूकता अभियान के माध्यम से जागरूक करें। उन्होंने कहा कि जिले के समस्त विकास अधिकारी प्रत्येक ग्राम पंचायत का दौरा करेगें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के कार्मिक अपने मुख्यालयों पर रहकर आमजन की सेवा करें। अधिकारियों को जनप्रतिनिधियों से चर्चा करते रहने चाहिए तथा अपने से संबंधित समस्याओं का निदान करना चाहिए। अच्छा कार्य करने से सरकार की गुड गर्वनेंस की छवि बनेगी।
श्री डोटासरा ने कहा कि गर्मी के मौसम को देखते हुए विधुत व पेयजल के अधिकारियों को विशेष चैकसी बरतनी होगी तथा उपलब्ध संसाधनों के माध्यम से आमजन को अच्छी सुविधाएं सुलभ करवाना सुनिश्चित करेगें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में आयोजित होने वाली ग्राम सभाओं में पंचायत समिति कार्यालय से कोई न कोई अधिकारी अवश्य जाये। उन्होंने कहा कि  पेयजल के लिये विधायक कोटे से जो 25-25 लाख रूपये की राशि दी गई है, जिसका सदुपयोग करें ताकि आमजन को पेयजल सुलभ हो सकें। उन्होंने सीमांत क्षेत्र विकास योजना के तहत संचालित विभिन्न कार्यों की प्रगति की समीक्षा की तथा निर्देश दिये कि स्वीकृत कार्य निर्धारित अवधि में पूर्ण किये जाये। किसी अधिकारी को किसी प्रकार की समस्या आने पर जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधियों के ध्यान में लाये।
उन्होंने कहा कि विश्व व्यापी महामारी के समय गरीब नागरिकों को रोजगार देने के लिये महात्मा गांधी नरेगा योजना में आवश्यकता के अनुरूप कार्य स्वीकृत किये जाये। जिले में 63 हजार 936 श्रमिक लगे हुए है। उन्होंने कहा कि जिन ग्राम पंचायतों में कार्य प्रारम्भ नही है, वहां भी रोजगार के लिये कार्य स्वीकृत किये जाये। उन्होंने कहा कि नरेगा में मेट को नियमित नही रखना चाहिए, नियमानुसार मेट को बदलते रहना चाहिए। रायसिंहनगर विकास अधिकारी द्वारा मेट लगाने की जानकारी नही देने पर प्रभारी मंत्री ने जांच के निर्देश दिये है। उन्होंने कहा कि जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आगामी 5 दिवस में पूर्ण जांच कर लगाये गये मेट, उनका प्रशिक्षण तथा रोटेशन की पूर्ण जांच रिपोर्ट भेजेगें। उन्होंने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना तथा भारत निर्माण योजना के तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा में चयनित एवं इसके अलावा गरीब नागरिकों को अनाज व दाल उपलब्ध करवाने की समीक्षा की तथा उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार कोई नागरिक भूखा न सोये, इसको लेकर जिले में राजकीय खाद्य आवंटन व वितरण के साथ-साथ नागरिकों के सहयोग से राशन व भोजन के पैकेट जरूरतमंदों को वितरित किये गये, जो सराहनीय है। उन्होंने इस जिले में पाकिस्तान क्षेत्र से आने वाली टिड्डी को लेकर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की तरह टिड्डी भी एक प्राकृतिक आपदा है, जिसे सरकारी तंत्र के साथ-साथ किसानों के सहयोग से इस प्राकृतिक आपदा से निपटना होगा।

प्रचार रथ रवाना
शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने गंगानगर विधायक श्री राजकुमार गौड़, सादुलशहर विधायक श्री जगदीश जांगिड़, भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी एवं जिले के प्रभारी सचिव श्री वैभव गलरिया, जिला कलक्टर श्री शिवप्रसाद एम नकाते, पुलिस अधीक्षक श्री हेमन्त शर्मा की उपस्थिति में जिला प्रशासन द्वारा तैयार किये गये प्रचार रथ को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह प्रचार रथ ग्रामीण व शहरी क्षेत्र के विभिन्न बस्तियों में जाकर आमजन को मास्क लगाने, दूरी बनाये रखने, हाथ धोने एवं सार्वजनिक स्थलों पर नही थूंकने का संदेश देगा। प्रचार रथ में लगे लाउड स्पीकर द्वारा गीतों के माध्यम से भी जनजागृति पैदा की जायेगी।

शिक्षा राज्यमंत्री ने की जनसुनवाई
शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने  वीसी के पश्चात कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आमजन की सामाजिक दूरी की पालना करते हुए जनसुनवाई की। जिले के दूरदराज क्षेत्रों से आये नागरिकों ने अपनी व्यक्तिगत तथा सार्वजनिक समस्याओं को प्रभारी मंत्री को बताया। श्री डोटासरा ने जनसुनवाई करते हुए संबंधित अधिकारियों को समस्या समाधान के निर्देश दिये।
माननीय मुख्यमंत्री द्वारा विशेष जागरूकता अभियान 21 से 30 जून तक के कार्यक्रम की शुरूआत के अवसर पर गंगानगर जिला अधिकारियों सहित उपखण्ड स्तर पर विभिन्न विभागों के अधिकारी व विधायक गण भी वीसी के माध्यम से जुड़े हुए थे। जनप्रतिनिधियों ने भी अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं को बताया।