एक हजार से अधिक मतदाता होने पर बनाया जाएगा सहायक मतदान केंद्र

 

जहानाबाद। समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलो के साथ जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी नवीन कुमार की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में भारत निर्वाचन आयोग के निदेशानुसार जिस मतदान केन्द्र पर एक हजार से अधिक मतदाता है, वहॉ सहायक मतदान केन्द्र बनाने तथा अतिआवश्यक होने पर मतदान केन्द्रों में परिवर्तन से संबंधित कार्यो के संबंध में दलों के प्रतिनिधियों को वस्तु स्थिति से अवगत कराया गया। इस दौरान जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि जहानाबाद, घोषी तथा मखदुमपुर के वैसे मतदान केंद्रों पर जहां एक हजार से अधिक मतदाता हैं, वहां सहायक मतदान केन्द्र का प्रस्ताव तैयार किया गया है। साथ ही भवन जर्जर होने की स्थिति में कुछ अत्यावश्यक मतदान केन्द्रों में परिर्वतन का भी प्रस्ताव है। उन्होंने कहा कि मतदान केंद्र व सहायक मतदान केंद्र से सम्बंधित अपना सुझाव आगामी 29 जून तक निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, ताकि उस पर शीघ्र कार्रवाई की जा सके।
बैठक में मखदुमपुर विधान सभा क्षेत्र के निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी सह अपर समाहर्त्ता ने बताया कि मखदुमपुर में 252 मतदान केन्द्र है, जिसमें एक हजार से अधिक मतदाताओं की संख्या वाले 109 मतदान केन्द्र है। इसी प्रकार घोषी विधान सभा क्षेत्र के निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी सह भूमि सुधार उप समाहर्त्ता द्वारा बताया गया कि घोषी में 289 मतदान केन्द्र है, जिसमें एक हजार से अधिक मतदाताओं की संख्या वाले मतदान केन्द्र की संख्या 89 है। इसी प्रकार जहानाबाद विधान सभा क्षेत्र के निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी सह अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि जहानाबाद में 316 मतदान केन्द्र है, जिसमें एक हजार से अधिक मतदाताओं की संख्या वाले मतदान केन्द्र की संख्या 101 है।
बैठक में जिला निर्वाचन पदाधिकारी, अपर समाहर्त्ता, जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी, भूमि सुधार उप समाहर्त्ता, अवर निर्वाचन पदाधिकारी, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद सहित जिला भाजपा अध्यक्ष, जदयू अध्यक्ष, राजद के प्रतिनिधि, सी.पी.एम. के प्रतिनिधि, सी.पी.आई. के प्रतिनिधि सहित अन्य राजनैतिक दल के प्रतिनिधिगण एवं पदाधिकारी उपस्थित थे।