मगध विश्वविद्यालय के कुलसचिव के निधन पर शोक।

 

जहानाबाद। मगध विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रो. राधेकांत प्रसाद के असामयिक निधन पर स्थानीय एस. एन. सिन्हा महाविद्यालय में शोक सभा का आयोजन कर दो मिनट का मौन रखते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई। श्रद्धांजलि देते हुए महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य एवं हिंदी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. उमाशंकर सिंह ने कहा कि यह विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। प्रो. राधाकांत बाबू हमेशा विश्वविद्यालय के हित में कठिन परिश्रम करने वाले पदाधिकारियों में से एक थे। उनके कार्यकाल में शिक्षकों, कर्मियों एवं विद्यार्थियों के हक में अनेक ऐसे निर्णय लिए गए जो हमेशा याद किए जाएंगे। वहीं बिहार राज्य विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष ब्रजेश कुमार ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि प्रो. राधाकांत बाबू के निधन से सभी कर्मी मर्माहत हैं। उनका असमय जाना किसी चमकते सूर्य के अस्त होने के समान है। हम सभी उनकी आत्मा की शांति के लिए परम पिता परमेश्वर से प्रार्थना करते हैं। शोक सभा में प्रो. प्रमिला कुमारी, प्रो. चंदन कुमार, शशि भूषण कुमार, रास नारायण भगत, राजीव कुमार सिंह, मो. अनवर हुसैन, राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता, शिव शंकर सिंह, रंजन कुमार, राजकुमार, भवभूति पाल सहित अनेक शिक्षक, कर्मी एवं छात्र छात्राएं शामिल थे।