बिहार कैबिनेट की बैठक खत्म, 24 एजेंडों पर लगी मुहर

 

बिहार कैबिनेट की बैठक खत्म हो गई है. नीतीश कैबिनेट की इस अहम बैठक में कई बड़े निर्णय लिए गए हैं. इस मीटिंग में कुल 24 एजेंडों पर मुहर लगी है. राज्य सरकार ने शहीदों के परिजन को सरकारी नौकरी देने के फैसले पर मुहर लगाई है.सचिवालय में चल रही नीतीश कैबिनेट की बैठक खत्म हो गई है. इस बैठक में कुल 24 एजेंडों पर मुहर लगी है. राज्य सरकार ने शहीदों के परिजन को सरकारी नौकरी देने के फैसले पर मुहर लगाई है.नीतीश सरकार गलवान घाटी में शहीद हुए 5 बिहारी सपूतों के परिजनों को नौकरी देगी. गलवान घाटी में जो पांच जवान शहीद हुए थे उनमें शहीद सिपाही चंदन कुमार,  शहीद अमन कुमार, शहीद जय किशोर सिंह, शहीद हवलदार सुनील कुमार और शहीद सिपाही कुंदन कुमार शामिल हैं.इसके अलावे कैबिनेट की बैठक में नई औद्योगिक नीति पर मुहर लगाई गई है. बिहार में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए नई नीति लागू की गई है. इस नई पॉलिसी में 500 करोड़ रुपये की निवेश करने पर छूट दी जाएगी. शर्त यह है कि निवेशक को कम से कम 500 लोगों को रोजगार मुहैया करना होगा.बिहार में कम से कम मिनिमम 25 लाख रुपये से अधिक निवेश करना आवश्यक किया गया है. नई औद्योगिक नीति मार्च 2025 तक लागू रहेगी. इस नई नीति के तहत ड्राई वेयर हाउस, फार्मिंग प्रोसेसिंग, ट्रांसपोर्टेशन, बोटलिंग इकाई, सब्जी एंड हॉर्टिकल्चर को प्राथमिकता दी जाएगी.केंद्रीय प्रोत्साहन का फायदा बिहार में औद्योगिक निवेश करने वालों को भी मिलेगा. कपड़ा इंडस्ट्री के अलावे परिधान निर्माण, खड़ी प्रसकरण, ईंट निर्माण, फर्नीचर, हस्तकला,चमड़ा उद्योग को शामिल किया गया है. इसके अलावा इथनॉल उत्पादन, दाल उत्पादन, गेंहू आधारित, मसाला आधारित और जड़ी बूटी आधारित उद्योग का फ़ायदा मिलेगा. विकास आयुक्त की अध्यक्षता में सचिवों की एक कमेटी बनाने का भी फैसला किया है, जो निवेशक को को विशेष अनुदान की अनुशंसा करेगी.