डी डी ए और प्रशासन की मिलीभगत से विभाग की खाली पड़ी भूमि पर हो रहे हैं अवैध अतिक्रमण।

अवैध तरीके से हरियाणा टूरिज्म की भूमि पर पोल लगा दिए – डी डी ए (civil) विभाग ने सरहदबंदी के लिए पोल DDA, ICD पार्क तुगलकाबाद में रखवाया था, परंतु उनमें से काफी पोल सूरजकुंड रोड फरीदाबाद बोर्डर पर हरियाणा टूरिज्म की भूमि पर लगवा दिए गए हैं।
अवैध तरीके से बनवाई गई थी दुकाने– डी डी ए की भूमि पर अवैध तरीके से काफी दुकान बनवाई गई थी, कुछ समय बाद जब अवैध निर्माण होने की शिकायत की गई तो विभाग ने पुलिस की मदद से अवैध दुकानों को छोड़ दिया गया और इस अवैध निर्माण को हटाने में विभाग को काफी नुकसान भी हुआ।समझ से परे है कि डी डी ए विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों तथा चौकीदारों के रहते कैसे अवैध निर्माण हो जाते हैं।
डी डी ए की भूमि पर धर्मकांटा– सूरजकुंड रोड पर विभाग की भूमि पर अवैध रूप से धर्मकांटा बनवा दिया गया है, जिसकी जानकारी विभाग को दे दी गई थी तो उन्होंने बताया ये भूमि वन विभाग, दिल्ली सरकार की है, वन विभाग को बताया गया तो उन्होंने जांच की और बताया डीडीए की भूमि पर बना है।
अवैध रूप से बन रहे हैं मकान– नार्दन बस्ती, प्रेम नगर लालकुआं चुंगी नं 2-3, राम प्यारी कैंप में धड़ल्ले से अवैध मकान बन रहे हैं, इनको बनाने से पहले एस.ओ.साहब डी डी ए से बात करनी होती है, बात तय हो जाती है कि एक बार हम जरूर तोड़ेंगे बाद में दोबारा बना लेना ।इस अवैध निर्माण को करवाने में स्थानीय प्रशासन की भूमिका अहम होती है।