शातिर अपराधी विकास दुबे पर इनामी राशि हुई 2.5 लाख रुपये

उत्तर प्रदेश पुलिस के डिप्टी एसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद फरार मुख्य आरोपित विकास दुबे पर प्रदेश सरकार ने बड़ा इनाम घोषित किया है। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने घोषणा की है कि विकास दुबे को पकड़ने वाले को ढाई लाख रुपया इनाम दिया जाएगा।  डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने बताया कि विकास दुबे के खिलाफ आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में कानपुर के चौबेपुर थाना में क्राइम संख्या 192/2020 में केस दर्ज है।

विकास दुबे पुत्र राम कुमार दुबे निवासी विकरू थाना, चौबेपुर पर पहले 25 हजार का ईनाम था, जिसको बढ़ाकर 50 हजार, 1 लाख और अब 2.5 लाख किया गया है। 50 हजार रुपये के इनामी हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने 1 लाख रुपये का इनाम घोषित किया था।

मोस्ट वांटेड ढाई लाख के इनाम हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने के लिए 60 टीमों में 900 पुलिस जवान लगाए गए हैं। मंडल स्तर पर पुलिस की 40 टीमों को लगाया गया है, जबकि मुख्यालय स्तर से भी 20 टीमों को मोस्टवांटेड विकास दुबे की तलाश में लगाया गया है। इसमें एसटीएफ की भी छह टीमेंं शामिल हैं।  

पत्नी रिचा पर की कसा शिकंजा, मोबाइल जब्त

शातिर अपराधी विकास दुबे की जिला पंचायत सदस्य पत्नी रिचा पर भी जांच टीमों ने शिंकजा कस दिया है। आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपित गैंगस्टर विकास दुबे पांचवें दिन भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है। अब पुलिस की जांच में उसके परिवार के सदस्यों के चेहरे भी बेनकाब होने लगे हैं। विकास की पत्नी रिचा के बारे में चौंकाने वाला मामला सामने आया है। रिचा दुबे के मोबाइल से गांव का सीसीटीवी कनेक्ट रहता था।जब भी पुलिस विकास को पकड़ती थी, वह क्लिप को सोशल मीडिया पर वायरल कर देती, ताकि पुलिस विकास दुबे का एनकाउंटर न कर सके। पुलिस ने रिचा  दुबे का मोबाइल जब्त कर लिया है।

पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया कि जो भी व्यक्ति विकास दुबे के बारे में सही जानकारी देगा उसे न केवल इनाम दिया जायेगा बल्कि उसकी पहचान भी गुप्त रखी जायेगी।