फरीदाबाद के होटल में दिखा हत्या का आरोपित हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे

कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपित हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे  फरीदाबाद पुलिस की गिरफ्त में आते-आते बच गया। बताया जा रहा है कि छापेमारी से पहले ही वहओयो गेस्ट हाउस  से पैदल ही भाग निकला।  सवाल उठ रहा है कि क्या विकास दुबे को छापेमारी की सूचना मिल गई थी, जो वहां से भाग निकला। बताया जा रहा है कि क्राइम ब्रांच फरीदाबाद  को मुखबिर से सूचना मिली थी कि विकास दुबे यहां बड़खल चौक स्थित एक गेस्ट हाउस में छिपा है। इसी आधार पर मंगलवार रात को फरीदाबाद की क्राइम ब्रांच टीमों ने होटल पर छापेमारी की। हथियारों से लैस पुलिस टीम ने होटल को चारों तरफ से घेर लिया। प्रत्यक्षदर्शियों ने वहां फायरिंग की बात कही है, लेकिन पुलिस ने इससे इनकार किया है। पुलिस टीम ने होटल के एक-एक कमरे की बारीकी से तलाशी ली, लेकिन विकास दुबे वहां नहीं मिला।

 विकास दुबे का खास गुर्गा पुलिस हाथ लगा 

विकास का एक खास गुर्गा पुलिस के हत्थे लग गया। सूत्रों का कहना है कि उस गुर्गे ने ही पुलिस को विकास दुबे की कुछ घंटे पहलेओयो गेस्ट हाउस  में मौजूद होने की पुष्टि की। बताया कि छापेमारी से काफी देर पहले विकास यहां से पैदल निकल गया था। यह जानकारी मिलते ही पुलिस सक्रिय हो गई। होटल की सीसीटीवी फुटेज कब्जे में ली गई। इसमें एक शख्स डीलडौल विकास दुबे से मिलता जुलता है। पुलिस ने यह फोटो आसपास के जिलों व राज्यों की पुलिस को भेज दिए हैं।आरोपित विकास दुबे यहां स्थानीय लोगों के पहचान पत्रों पर रुके हुए हैं। इसके बाद क्राइम ब्रांच की सभी टीमों ने संयुक्त रूप से छापेमारी की। गेस्ट हाउस के प्रत्येक कमरे को खोलकर देखा गया, पर संचालकों ने विकास या उसके साथियों के आने से इनकार किया। पुलिस ने रजिस्टर चेक किया तो उसमें दो पहचान पत्रों पर संदेह हुआ। पुलिस ने उन युवकों को हिरासत में ले लिया। फरीदाबाद से बाहर के रास्तों पर नाकाबंदी कर वाहनों की जांच भी की गई।

आरोपित विकास दुबे के साथियों संग छिपे होने की सूचना पर फरीदाबाद क्राइम ब्रांच की टीमों ने राष्ट्रीय राजमार्ग पर बडख़ल मोड़ के पास स्थित ओयो गेस्ट हाउस घेर लिया। छापेमारी के दौरान पुलिस को गेस्ट हाउस में विकास या उसका साथी नहीं मिला। पुलिस द्वारा दो स्थानीय लोगों को हिरासत में लिए जाने की सूचना है। पुलिस ने गेस्ट हाउस की सीसीटीवी फुटेज भी कब्जे में ली है।

बिहार DGP का आरोपित हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को खुला चैलेंज-हिम्मत है तो बिहार में घुसकर दिखाओ जरा..

हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के बिहार में छिपे होने की खबरों पर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाले विकास दुबे को चैलेंज देते हुए कहा है कि हिम्मत है तो बिहार में घुसकर दिखाएं।

डीजीपी ने कहा कि अपराधी की कोई जाति नहीं होती। डीजीपी  ने कहा कि कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या करके हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे बिहार में घुस आएगा और यहां से सुरक्षित निकल जाएगा? यह कैसे हो सकता है?