एसओ रहे विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा गिरफ्तार, अमर दुबे की पत्नी हिरासत में

आठ पुलिस कर्मियों की हत्या में आरोपित ढाई लाख का इनामी मोस्टवांटेड विकास दुबे फीदाबाद में पुलिस के हाथ से फिसल गया, हालांकि एक साथी हत्थे चढ़ गया है। वहीं हमीरपुर में एसटीएफ और पुलिस से हुई मुठभेड़ में विकास का साथी अमर दुबे मारा गया है। उधर, विकास से संबंधों के शक में चौबेपुर के पूरे थाने पर कार्रवाई कर दी गई है। इसमें मंगलवार को 68 पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की गई है, जबकि इससे पहले चौबेपुर एसओ, दो दारोगाओं व एक सिपाही को संस्पेंड और दस पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर किया जा चुका है।

बिकरू कांड के समय चौबपुर थाने के एसओ रहे विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनपर सीओ समेत आठ पुलिस कर्मियों की हत्या में फरार मोस्ट वांटेड अपराधी विकास दुबे से संबंध, मुठभेड़ के समय पुलिस टीम की जान खतरे में डालने और मौके से भाग जाने के मामले में मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई की गई है।

संदेह के दायरे में रहे तत्कालीन एसओ विनय तिवारी से पुलिस और एसटीएफ की टीम ने गहन पूछताछ की थी। इस दरमियान उनके द्वारा पुलिस टीम को छोड़कर भागने और हिस्ट्रीशीटर अपराधी विकास दुबे के बाबत जानकारी उच्चाधिकािरयों को न दिए जाने की पुष्टि होने पर उन्हें संस्पेंड कर दिया गया था

 

अमर दुबे की की शादी घटना के तीन दिन पहले 29 जून को हुई थी

हमीरपुर मौदहा में एसटीएफ की मुठभेड़ में मारे गए अमर दुबे की पत्नी शशि को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है। अमर की शादी घटना के तीन दिन पहले 29 जून को हुई थी। विकास ने गांव में ही लड़की वालों को बुलाकर शादी कराई थी।

पुलिस ने बुधवार को दिन भर में दोनों कुएं का पानी बाहर निकलवाया

बिकरू गांव में विकास दुबे के घर के पास पुलिस ने बुधवार को दिन भर में दोनों कुएं का पानी बाहर निकलवा दिया। पानी बाहर निकलवाने के बाद पुलिस और फायर ब्रिगेड के जवानों ने कुओं के अंदर खंगाला लेकिन कोई साक्ष्य या असलहा नहीं मिला। पूरे दिन की मशक्कत के बाद पुलिस को यहां भी मायूसी ही हाथ आई है।

-बिकरू गांव में मोस्टवांटेड विकास दुबे के घर के पास एक कुएं का पूरा पानी निकालकर सर्च ऑपरेशन पूरा हो गया है। पुलिस ने अब फायर ब्रगेड की मदद से दूसरे कुएं के पानी का खाली कराना शुरू कर दिया। घटना के बाद फरार होते समय विकास व उसके साथियों द्वारा कुएं में असलहे फेंके के संदेह पर सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा लेकिन पहले कुएं में पुलिस को कुछ नहीं मिला है।