शिकारियों के चंगुल से छुड़ाया कछुआ विरोध में शिकारियों ने बोला हमला

लखीमपुर जनपद में आने वाले मैलानी जंगल में तमाम बेशकीमती जड़ी बूटी तथा जंगली जानवरों का पुनर्वास है तराई क्षेत्र तथा पानी की उपलब्धता के चलते जलीय वन्यजीव भी जंगल में भारी मात्रा में प्रवास करते हैं जिन्हें कुछ लोग अपने लाभ के लिए उन मासूमों के जान लेते रहते हैं इसे घटनाक्रम के अनुसार पड़रिया तुला गांव के दो युवा गगन मिश्रा तथा सुशील गुप्ता यात्रा के दौरान मैलानी जंगल से गुजरे आगे जाकर उन्हें दो संदिग्ध लोग कुछ झोले में कुछ छिपाकर कर जाते दिखे जब युवाओं ने उसे पूछा इसमें क्या है तो वह हमलावर हो गए और शिकार करने वाले हथियार से हमला करने का प्रयास किया लेकिन तभी किस्मत के चलते डायल हंड्रेड की गाड़ी मौके से गुजरी जिसे देखकर दोनों शिकारी जंगल के अंदर भागने लगे लेकिन युवाओं ने छोले को पकड़े रखा और उसे छीन लिया देखने पर पता चला कि झोले में में एक जीवित कछुआ छुपाया गया था जिसे झोले से निकालकर युवाओं ने दोबारा जंगल के तालाब में छोड़ दिया जब यह बात सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो उन युवाओं को काफी प्रशंसा मिल रही है।।