भाजपा का दावा- कोई ताकत गहलोत सरकार को नहीं बचा सकती

राजस्थान में सचिन पायलट को उप-मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से हटाकर पार्टी ने बड़ी कार्रवाई की है।  राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा, ‘ लोग इस सरकार से नाराज़ और निराश हैं और दुनिया की कोई ताकत इस सरकार को बचा नहीं सकती है। हमारी प्राथमिकता है कि यह सरकार गिर जाए। हम स्थिति की निगरानी रख रहे हैं और बाद हमारी रणनीति तय करेंगे।’

उप-मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से हटाए जाने के बाद पायलट ने ट्वीट करके कहा कि सत्य को परेशान किया जा सकता है पराजित नहीं। उनकी जगह गोविंद सिंह डोटासरा को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

जनता ने जिन्हें चुना उनकी जीत हुई

राजस्थान के कांग्रेस इंचार्ज अविनाश पांडे ने कहा कि सचिन पायलट बिल्कुल सही कह रहे हैं, जनता ने जिनको चुना है उनकी जीत हुई है। भगवान उनको (सचिन पायलट) सद्बद्धि दे।

अशोक गहलोत ने सचिन पायलट पर साधा निशाना

सचिन पायलट पर निशाना साधते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि उनका नजरिया कुछ इस तरह था कि आ बैल मुझे मार और पिछले कई महीनों से वो इसी प्रकार के ट्वीट कर रहे थे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मैं सभी विधायकों से निष्पक्ष रहा हूं और कोई भी फैसले इस फैसले से खुश नहीं है।

कुछ भटक गए और दिल्ली चले गए : गहलोत

कलराज मिश्रा ने डिप्टी सीएम पद से सचिन पायलट और विश्वेन्द्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्री पद से हटाने के प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया है। पार्टी ने  पायलट के अलावा उनके समर्थक इन दो विधायकों पर भी कार्रवाई की है। इससे पहले जयपुर में कांग्रेस मुख्यालय से सचिन पायलट की नेम प्लेट हटा दी गई।  गहलोत ने इसके बाद कहा, ‘हाईकमान को मजबूरी में फैसला लेना पड़ा। अब हमारे कुछ दोस्त इसकी वजह से भटक गए और दिल्ली चले गए।’

भाजपा बनाए हुए है नजर

पूरे राजनीतिक घटनाक्रम पर भाजपा नजर बनाए हुए है। राज्य में भाजपा के राज्य कार्यालय में एक बैठक हुई, जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव वी. सतीश, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया और उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौर मौजूद रहे। इससे पहले राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि कांग्रेस दावा करती रही है कि उनके नेता एकजुट हैं, लेकिन यह स्पष्ट है कि आंतरिक विवाद हैं, जिसके कारण अपमान का सामना करने के बाद सचिन पायलट को पार्टी से अलग होना पड़ा।

सरकार जाए ये हमारी कोशिश रहेगी-पूनिया

पूनिया ने कहा, ‘ पहली बात तो ये कि ये सरकार जाए ये हमारी कोशिश रहेगी। दूसरा राजस्थान की जनता और लोगों के हित में जो होगा वही किया जाएगा।

राजस्थान कांग्रेस ने बागी हुए उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके समर्थित मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें उप मुख्यमंत्री और मंत्री पदों से हटा दिया है।  इसके बाद राजस्थान मंत्रिमंडल से सचिन पायलट और उनके दो करीबी मंत्रियों को बर्खास्त किया गया।

सचिन पायलट को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किए जाने के साथ ही कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पद से भी हटा दिया गया है। उनकी जगह पर शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। सचिन पायलट के अलावा विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सचिन पायलट को प्रदेश अध्यक्ष के साथ ही मंत्री पद से हटाए जाने का ऐलान किया। सुरजेवाल ने कहा कि पायलट के साथ ही विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्री पद से हटाया जा रहा है।