Hyderabad Encounter Case: SC में हुई सुनवाई, मुठभेड़ की जांच पूरी करने के लिए दिया 6 महीने का समय

कुंदन

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने हैदराबाद एनकाउंटर मामले में जांच के लिए 6 महीने का और समय दे दिया है। हैदराबाद मुठभेड़ मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई।

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान हैदराबाद में एक महिला डॉक्टर के साथ दुष्कर्म और उसके बाद हत्या के चार आरोपियों की मुठभेड़ में मौत की जांच का निष्कर्ष निकालने के लिए शीर्ष अदालत के पूर्व न्यायाधीश वी एस सिरपुरकर की अध्यक्षता में जांच आयोग को छह महीने का और समय दे दिया है, मुख्य न्यायाधीश एस ए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने पैनल की याचिका की सुनवाई की। इस याचिका में आयोग की ओर से अंतिम रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए 6 महीने की मोहलत मांगी गई थी।

पिछले साल 12 दिसंबर को देश की शीर्ष अदालत ने इस घटना की जांच के लिए तीन सदस्यीय आयोग नियुक्त किया था। शीर्ष अदालत ने कहा था कि जांच आयोग, जिसमें बॉम्बे हाईकोर्ट की पूर्व न्यायाधीश रेखा सोंदूर बल्दोटा और पूर्व सीबीआई निदेशक डी आर कार्तिकेयन भी शामिल हैं, उन्हें छह महीने के भीतर सुप्रीम कोर्ट को अपनी रिपोर्ट सौंपनी होगी।

पिछले साल नवंबर में एक महिला डॉक्टर के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में चार आरोपी- मोहम्मद आरिफ, चिंताकुंटा चेन्नेकशवुलु, जोलु शिवा और जोलु नवीन को गिरफ्तार किया गया था। पिछले साल 6 दिसंबर को तेलंगाना पुलिस के साथ हैदराबाद में एक मुठभेड़ में ये चारों आरोपी मारे गए थे। पुलिस के अनुसार यह घटना सुबह करीब 6.30 बजे हुई थी, जब इन आरोपियों को अपराध स्थल के पुनर्निर्माण के लिए घटनास्थल पर ले जाया जा रहा था। हैदराबाद के पास NH-44 पर इन सभी चार आरोपियों की पुलिस मुठभेड़ में मौत हो गई थी। इसी हाइवे पर महिला डॉक्टर का शव मिला था।