पंजाब पुलिस ने अंतरराज्यीय नशा तस्कर गिरोह का किया पर्दाफाश

चंडीगढ़। पंजाब पुलिस ने एक और बड़े अंतरराज्यीय नशा तस्कर गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने गैंग के 20 लोगों की गिरफ्तार किया है। यह देश के 11 राज्यों के 50 से अधिक जिलों में नशा तस्करी में सक्रिय थे। आगरा गैंग के नाम से मशहूर यह गैंग हर महीने पंजाब में 10 से 12 करोड रुपये के नशीले पदार्थ भेजता था। 8 सप्ताह से अधिक समय तक चले एक ऑपरेशन में पुुुुुलिस ने इनसे भारी मात्रा में ड्रग्स, नशीली दवा के पैसे और पांच वाहन भी बरामद किए हैं।

पंजाब पुलिस महानिदेशक (DGP) दिनकर गुप्ता ने बताया कि अब तक गिरफ्तार किए गए 20 लोगों में से 16 पंजाब के, 2 यूपी के और एक-एक हरियाणा और दिल्ली के हैं। इस गिरोह के सदस्यों के पकड़े जाने के बाद नशा तस्करी के नेटवर्क का पता चलेगा। 20 लोगों की गिरफ्तारी पंजाब, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और दिल्ली के विभिन्न स्थानों से की गई है।

डीजीपी के मुताबिक आगरा गैंग दवा उत्पादकों , सप्लायरों, थोक दवा विक्रेताओं और रिटेल केमिस्टों से मिलकर बड़ी मात्रा में नशीले ड्रग्स बाजार में भेजता रहा है। इस गैंग के सदस्यों की गिरफ्तारी से पंजाब में हर महीने 10 से 12 करोड रुपये की नशीली दवाइयां, इंजेक्शन और सिरप भेजने वाला सिंडीकेट का पर्दाफाश हुआ है।

डीजीपी ने बताया कि इन लोगों से 27,62,137 नशीली गोलियां, कैप्सूल, इंजेक्शन और सिरप की बोतलें जब्त की गई हैं। इसकी कीमत 70,03,800 रुपये है। पुलिस के मुताबिक पकड़े गए लोगों से पूछताछ की जा रही है। उनसे और भी कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है।

बरनाला पुलिस ने मार्च 2020 में इस गैंग का खुलासा किया था। इसका खुलासा करने वाली टीम में एसएसपी संदीप गोयल के अलावा महल कलांं की एसपी डॉ. प्रज्ञा जैन, एसपी डिटेक्टिव सुखदेव विर्क, डीएसपी डिटेक्टिव रमिंदर दियोल और सीआइए इंचार्ज इंस्पेक्टर बलजीत सिंह शामिल थे।