कानपुर : नौबस्ता पुलिस ने किया प्रतीक की हत्या का सटीक खुलासा, पत्नी और प्रेमी गिरफ्तार

पत्नी ने ही प्रेमी के साथ मिलकर की अवैध संबंधों में बाधक प्रतीक की हत्या

 

– शराब हैो जहरीली बनाकर समाप्त की प्रतीक शर्मा की जिंदगी और चोरी छुपे कर दिया था अंतिम संस्कार

– घटना के सटीक खुलासे के साथ पत्नी और प्रेमी को गिरफ्तार कर नौबस्ता पुलिस ने खिलाई जेल की हवा दोनों को गिरफ्तार करने में अहम रही बसंत विहार के चौकी प्रभारी छत्रपाल सिंह की गहन जांच पड़ताल

सुनील बाजपेई
कानपुर। प्रेम बनाम अवैध संबंध अक्सर प्रेमी ,प्रेमिका ,पति पत्नी और दोस्त की भी हत्या का भी कारण बनते रहते हैं। कुछ ऐसा ही हुआ नौबस्ता थाना क्षेत्र की प्रतीक शर्मा के साथ उसकी हत्या पत्नी ने ही प्रेमी के साथ मिलकर कर दी। इसके लिए दोनों ने जहरीली शराब का उपयोग किया। यही नहीं हत्या के बाद दोनों ने चोरी छुपे प्रतीक शर्मा का अंतिम संस्कार भी कर दिया ,लेकिन इसके बाद भी उसके हत्यारी पत्नी और उसका प्रेमी कानून के शिकंजे से बच नहीं सका और दोनों को शहर छोड़कर जाने के पहले ही गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त कर ली गई ,जिसमें बसंत विहार चौकी प्रभारी छत्रपाल सिंह की द्वारा की गई गहन जांच पड़ताल की भूमिका बहुत अहम रही।
घटना का विवरण देते हुए दक्षिण की एडीसीपी अंकित शर्मा ने पत्रकारों को बताया किनेहा शर्मा पुत्री स्व0 अमृतलाल शर्मा निवासी न्यू कालोनी कुम्हार टोला, लालबाग फैजाबाद आयुष शर्मा पुत्र विनोद कुमार शर्मा निवासी 3 बी आवास-विकास पानी की टंकी के पास , थाना नौबस्ता कानपुर नगर को समय को हाईवे अण्डर पास नियर पोस्ट आफिस से गिरफ्तार किया गया था ।
पिता द्वारा दर्ज कराई गई रिपोर्ट के आधार पर दी गई जानकारी के मुताबिक बहू नेहा व बेटा प्रतीक शर्मा व दो बच्चे को लेकर, अपने मायके फैजाबाद गई थी। वहाँ से बीती 12 मार्च को बहू नेहा शर्मा दोनो बच्चों के साथ घर वापस कानपुर आई लेकिन बेटा वापस नही आया। जब बेटे के न आने का कारण पूछा तो बहु ने बताया कि गाडी खराब हो गई थी तो वह गाडी ठीक कराने के लिए बाराबंकी में रूक गये है। गाडी ठीक कराके 2-3 दिन बाद वापस आ जायेंगे। इसके बाद नेहा 16 मार्च को वादी के नाती अभिराज को दवा दिलाने की बात कहकर बहु दोनों बच्चों को साथ लेकर घर से चली गयी, जब 2-3 दिन बाद जब वापस नही आई तब वादी ने परेशान होकर थाना नौबस्ता पर अपने बेटे व बहु और दोनों बच्चों की गुमशुदगी बीती 21 मार्च को दर्ज करवाई। जिसकी जाँच इसके पहले भी इस तरह की घटनाओं का सटीक खुलासा करने में अग्रणी रहे बसंत विहार के चौकी प्रभारी छत्रपाल सिंह द्वारा की जा रही थी।
इसी दौरान जांच कर रहे दरोगा छत्रपाल सिंह को पता चला कि नेहा शर्मा व उसके पुरुष मित्र आयुष शर्मा द्वारा नेहा शर्मा के पति प्रतीक शर्मा को शराब में जहर मिलाकर लखनऊ स्थित आशीर्वाद होटल में ठहरने के दौरान हत्या कर दी गयी थी, जिसके बाद प्रतीक की पत्नी नेहा शर्मा पुत्री स्व0 अमृतलाल शर्मा निवासी न्यू कालोनी कुम्हार टोला, लालबाग फैजाबाद पत्नी के प्रेमी आयुष शर्मा पुत्र विनोद कुमार शर्मा निवासी 3 बी आवास-विकास पानी की टंकी के पास , थाना नौबस्ता के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया, जिसकी विवेचना अपराधियों के खिलाफ लगातार सफल मोर्चा खोले नौबस्ता के प्रभारी इंस्पेक्टर जगदीश प्रसाद पांडे ने शुरू की।
अंततः इंस्पेक्टर जगदीश प्रसाद पांडे और बसंत विहार के चौकी प्रभारी छत्रपाल सिंह का परिश्रम रंग लाया और एक दूसरे से कड़ियां जोड़ते हुए दोनों हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर घटना का सटीक खुलासा करने में सफलता प्राप्त कर ली गई। वहीं प्रतीक की हत्यारोपी पत्नी नेहा शर्मा और उसके प्रेमी आयुष को गिरफ्तार करने में प्रभारी निरीक्षक जगदीश प्रसाद पाण्डेय की अगुवाई में वसंत विहार के चौकी प्रभारी छत्रपाल सिंह के साथ ही दरोगा राधा किशन, महिला दरोगा पूजा सिंह, हेड कांस्टेबल राजवीर और हरगोविन्द आदि भी शामिल रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button