ओडिशा में त्रिकोणीय मुक़ाबले में फिर फंसे नवीन पटनायक

डॉ. समरेन्द्र पाठक
वरिष्ठ पत्रकार।

भुवनेश्वर,28 मार्च 2024 (एजेंसी)।ओडिशा में फिर एकबार त्रिकोणीय मुक़ाबला होने जा रहा है। राज्य में सत्तारुढ़ बीजू जनता दल (बीजेडी) एवं भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी)में अंतः गठबंधन नहीं हो सका और दोनों ही दल अब अपने बूते चुनाव मैदान में है। कॉंग्रेस अलग से ताल ठोक रही है।

ओडिशा में लोकसभा की 21 और विधानसभा की 147 सीट हैं और यहां लोकसभा और विधानसभा के चुनाव साथ-साथ चार चरणों 13, 20,25 मई व एक जून को होना तय है।

वर्ष 2014 में हुए चुनाव में बीजू जनता दल को करीब 43 फीसदी वोट मिले थे। इसके अलावा कांग्रेस को 25.6 और बीजेपी को 18 फीसदी वोटरों का समर्थन मिला था।वर्ष 2019 में भाजपा की स्थितियां बदली और वह बीजेडी के बाद राज्य में दूसरी बड़ी पार्टी बन गयी। हालांकि इसके बाद भी नवीन पटनायक ने राज्य के सीएम के रूप में शपथ ली थी।

ओडिशा के मुख्यमंत्री और बीजू जनता दल के प्रमुख नवीन पटनायक ने लोक सभा के लिए 9 एवं राज्य विधानसभा लिए 72 उम्मीदवारों की पहली सूची कल जारी की। श्री पटनायक खुद हिंजिली विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे।

बीजेडी महासचिव संगठन प्रणब प्रकाश दास को संबलपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार बनाया गया है, जहां उनका मुकाबला केंद्रीय मंत्री एवं बीजेपी उम्मीदवार धर्मेंद्र प्रधान से होगा। ओडिशा के मंत्री सुदाम मरांडी मयूरभंज लोकसभा सीट से चुनाव लड़ेंगे,जबकि भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान दिलीप टिर्की का मुकाबला सुंदरगढ़ लोकसभा सीट पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं निवर्तमान सांसद जुएल ओराम से होगा।

बीजेडी के लोकसभा सीट के लिए अन्य उम्मीदवारों में लंबोदर नियाल – कालाहांडी, अंसुमन मोहंती- केंद्रपाड़ा,प्राजिप कुमार माझी- नवरंगपुर,मनमथ राउतराय- भुवनेश्वर , कौशल्या हिकाका- कोरापुट और रंजीता साहू -अस्का शामिल हैं।

श्री पटनायक खुद गंजम जिले के हिंजिली विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ेंगे। विधानसभा के लिए घोषित 72 उम्मीदवारों में 13 नए चेहरे और 12 महिला प्रत्याशी शामिल हैं।

बीजेपी ने गत रविवार को ओडिशा की 21 लोकसभा सीटों में से 18 के लिए अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की, जबकि चार मौजूदा सांसदों को सूची से हटा दिया। कटक, जाजपुर और कंधमाल लोकसभा क्षेत्रों के लिए पार्टी द्वारा अभी तक उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की गई है।

पार्टी ने चार महिलाओं – अपराजिता सारंगी -भुवनेश्वर, संगीता कुमारी देव- बोलांगीर, मालविका केशरी देव- कालाहांडी और अनीता सुभादर्शिनी को अस्का से मैदान में उतारा है।

जिन मौजूदा सांसदों को इस बार बीजेपी ने टिकट नहीं दिया है उनमें सुरेश पुजारी -बारगढ़, केंद्रीय मंत्री बिशेश्वर टुडू -मयूरभंज,नीतीश गैंग देब -संबलपुर और बसंत पांडा- कालाहांडी शामिल हैं।

पार्टी ने श्री पुजारी की जगह प्रदीप पुरोहित को उम्मीदवार बनाया है, जबकि केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने संबलपुर में नीतीश गैंग देब की जगह ली है।

रायरंगपुर के विधायक नबा चरण माझी ने मयूरभज सीट पर बिशेश्वर टुडू की जगह ली है। कालाहांडी लोकसभा सीट पर बसंत कुमार पांडा की जगह मालविका केशरी देव को नया उम्मीदवार बनाया गया है।

जिन मौजूदा सांसदों को बरकरार रखा गया है, उनमें जुएल ओराम – सुंदरगढ़, प्रताप चंद्र सारंगी- बालासोर, संगीता कुमारी सिंह देव- बोलंगीर और अपराजिता सारंगी- भुवनेश्वर शामिल हैं।

बीजेपी के अन्य प्रत्याशियों में अनंत नायक -क्योंझर, अभिमन्यु सेठी- भद्रक, रुद्र पाणि- ढेंकनाल, बैजयंत पांडा -केंद्रपाड़ा, बलभद्र माझी- नबरंगपुर, बिभु तराई -जगतसिंहपुर, संबित पात्रा -पुरी, प्रदीप पाणिग्रही- बेरहामपुर और कलीराम माझी – कोरापुट शामिल हैँ।

कॉंग्रेस ने कुछ प्रत्याशियों की सूची जारी की है लेकिन पूरी सूची सामने आने की जल्द सम्भावना है। बहरहाल राज्य में त्रिकोणीय मुकाबला तय है। एल.एस.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button